Importance of Debit and Credit in accounts (खातों में डेबिट व क्रेडिट का महत्‍व)

Importance of Debit and Credit in accounts

खातों में डेबिट व क्रेडिट के महत्‍व के बारे में हमेंं पता होना जरूरी है। जिससे की हम Accounting के बारे में और अच्‍छी तरह से जान पाएगे और इसे समझ पाएगे। तो आईए जानते है खातों में डेबिट व क्रेडिट के महत्‍व के बारे में।

Personal Accounts (व्‍यक्तिगत खाता) –   जब कभी बिजनेस किसी बिजनेसमैन को उधार माल बेचता है तो उस बिजनेसमैन के Account को Debit किया जाता है। Personal Account में Debit का मतलब होता है, कि जिसका खाता Debit किया जा रहा है, वह देनदार (Debtor) हो जाता है। इसका मतलब यह है कि वह बिजनेस के कुछ Amount का ऋणी (कर्जदार) है। जब कभी बिजनेस किसी Supplier से उधार माल Purchase (खरीद) करता है, तो Supplier के Account को Credit किया जाता है। Supplier के Accounts में Credit करना यह दर्शाता है कि Credit के आकार में Increment हुई है, यदि एक Debtor का Account Credit किया जाता है, तो वह यह दर्शाता है कि Customer के ऋण में कमी हुई है।

Real Accounts (वास्तविक खाता) – Real Accounts में Debit से तात्‍पर्य होता है कि किसी Asset (संपत्ति) की Purchasing (खरीद) की गयी है। Real Account में पुन: किसी Debit से तात्‍पर्य होता है कि और Asset (संपत्ति) ली गई है तथा यह वैल्‍यू को बढ़ाता है। Real Account में किसी Credit से तात्पर्य होता है कि Asset (संपत्ति) का कुछ भाग या सारी Asset बेच दी गई है।

Nominal Accounts (अवास्‍तविक या आय व्‍यय खाता) – इस Account में Debit यह दर्शाताा है कि कोई Expense (खर्च) हुआ है या कोई Loss (हानि) हुई है। जब सैलरी, रेन्‍ट, ब्‍याज तथा कमीश्‍न के कारण कोई खर्च होता है तो ये Nominal Accounts में डेबिट किए जाते है। Nominal Accounts में Credit यह दर्शाताा है कि कोई Income या Profit हुआ है, या किसी Expense (खर्च) या Loss (हानि) में Credit की गई राशि में कमी हुई है।

उदाहरण – अब आप अकाउन्‍ट की नेचर (नॉमिलन, रियल, पर्सनल) को बताइये व दिखाइये कि कौन सा अकाउण्‍ट डेबिट व कौन सा अकाउण्‍ट क्रेडिट किया जाएगा।

(1) Rent Paid (2) Interest Received (3) Building Purchased (4) Machinery Sold (5) Discount Allowed (6) Capital Introduced

AccountNature of AccountDebited / Credited
Rent Paid AccountNominalDebited
Interest Received AccountNominalCredited
Building Purchased AccountRealDebited
Machinery Sold AccountRealCredited
Discount Allowed AccountNominalDebited
Capital Introduced AccountPersonalCredited

NOTE:- आपको ये पोस्ट कैसी लगी आप हमें कमेंट के माध्यम से अवश्य बतायें। हमें आपके कमेंट्स का बेसब्री से इन्तजार रहेगा है। अगर आपका कोई सवाल या कोई suggestions है तो हमें बतायें, और हाँ पोस्ट शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.