Multimedia Elements (मल्टीमीडिया के तत्व)

Multimedia Elements Image

हम सभी जानते है कि मल्‍टीमीडिया दो शब्दों से मिल कर बना है मल्टी + मीडिया यहॉं मल्‍टी अर्थ अनेक से है और मीडिया का अर्थ टेक्‍स्‍ट, आडियों, वीडियों, ग्राफिक, एनीमेशन से होता है।
मल्‍टीमीडिया कई सारे ऐलीमेंट से मिल कर बना होता है, जैसे आडियों टेक्‍स्‍ट, आडियों, वीडियों, ग्राफिक, एनीमेशन आदि। किसी टीवी पर देखने जाने वाले समाचार एक अच्‍छा उदाहरण है जिसमें टेक्‍स्‍ट, आडियों, वीडियों, ग्राफिक, एनीमेशन का उपयोग किया जाता है।

मल्‍टीमीडिया के विभिन्‍न घटक

Types Multimedia Elements Image

Text

हम कम्‍प्‍यूटरो में अक्षरों जैसे (A-Z) और सख्‍याओं (0-9) तथा विशेष चिन्‍हो जैसे @#$% आदि का प्रयोग सूचनाओं को टेक्‍स्‍ट के रूप में प्रस्‍तुत करने के लिए करते है। इस टेक्‍स्ट टेक्स्‍ट फाईल को कम्‍प्‍यूटर द्वारा तैयार तथा स्‍टोर किया जा सकता है। मल्‍टीमीडिया के सभी प्रोडेक्‍ट या फाईल में टेक्‍स्‍ट किसी न किसी रूप में शामिल होता है।
आजकल सभी ज्‍यादातर ऑफिस में Paperless प्रणाली की अपनाया है जिसका मतलब है कि ऑफिस के ज्‍यादातर कार्य कम्‍प्‍यूटर पर टेक्‍स्‍ट के माध्‍यम से किया जाता है।
जैसा की हम जानते है टेक्‍स्‍ट का कई रूप हो सकते है। यह अक्षर के रूप में, संख्‍याओं के रूप में तथा विशेष प्रकार के चिन्‍ह के रूप में प्रदर्शित होते है। टेक्‍स्‍ट को भी कई प्रकार से बाटा गाया है रंग के आधार पर, आकार के आधार पर तथा डिजाइन के आधार पर अखबारों में हम देख सकते है कि हर विषय तथा कार्य के लिए विशेष फॉट का उपयोग होता है। जैसाा की अखबारो मे होता है Heading, Title, Paragraph तथाा विज्ञापनोंं के लिए अलग अलग फॉन्‍ट,और साईज आदि का उपयोग किया जाता है

Image

Image मल्‍टीमीडिया का एक बहुत ही महत्‍वपूर्ण Element है। कोई भी इमेज पिक्‍सल के संग्रह से मिल कर बना होता है किसी भी जानकारी या संदेश को समझने में Image अपनी अलग भूमिका निभाता है Image की सहायता  से किसी भी जानकारी या सन्‍देश को समझने में आसानी होती है। चाहे वह ऑफिस में हो या हॉस्‍पिटल में या सिनेमा हाल में ऐसी कई सारी जगहो पर संदेश Image के रूप में मौजूद होते है। Image का उपयोग टेक्‍स्ट के मुकाबले अधिक होता है।
कम्‍प्यूटर के आधार पर Image को 2 भागों में बाटा गया है।

Types of Image

Bitmap Image

Bitmap Image जिसे Rester Image भी कहते है। य‍ह कई सारे छोटे छोटे पिक्‍सल से मिल कर बना होता है। जिसे हम Dots या Squire भी कहते है। यहॉं हर Pixel एक विशेष रंग का होता है। Pixel के कई सार समूहो से मिल कर एक Image तैयार होता है। आपने देखा होगा किसी कम्‍प्‍यूटर या फोन पर जब हम किसी फोटो को जूम करते है तो अधिक जूम करने पर वह छोटे छोटे Pixel के रूप में दिखाई देता है। Pixel बेस्‍ड होने की वजह से हम किसी इमेंज साईज को एक लिमिट तक ही जूम कर सकते है इसके बाद वह फोटो Blurred हो जाती है। Bitmap Image को हम JPEG, PNG, GIF जैसे फाईल फार्मेट में Save किया जाता है, और किसी Image को Edit तथा Design करने के लिए Photoshop, GIMP, जैसे सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जाता है।

Raster And Vector Image
Raster And Vector Image

Vector Image

Vector Image Mathematical Calculation पर आधारित होता है, इसमें पिक्सल नही होते है। Vector Image को हम जितना चाहे उतना जूम कर सकते है इसकी में क्‍वालिटी कोई फर्क नही आता है। Vector Image बाईनरी कोड के सेट के रूप में स्‍टोर करती है। इसकी फाईल की साईज भी Bitmap Image की तुलना में कम होती है। Vector Image को आसानी से एडिट किया जा सकता है। Vector Image का ज्‍यादातर उपयोग LOGO और Graphic तैयार करने के लिए किया जाता है। Vector Image को किसी भी साईज में प्रिट किया जा सकता है बिना उसकी Quality खोये। Vector Image को ai, cdr, svg, के फॉर्मेट के रूप में सेव किया जाता है। और इन्‍हे बनाने और Edit करने के लिए CorelDraw, Inkscape, illustrator का उपयोग किया जाता है।

Sound/Audio

हम किसी भी सूचना और जानकारी को प्रस्‍तुत करने के लिए Audio का उपयोग करते है। आजकल ज्‍यादातर लोग किसी जानकारी को पढ़ने या देखने के बजाए सुनकर समझना ज्‍यादा पसंद करते है। Audio हमारे जीवन में एक अहम भूमिका निभाता है चाहे वह सिनेमा हो या समाचार जिसमें विभिन्‍न प्रकार के Sound Effect का उपयोग किया जाता है। जिससे की हमारा ध्‍यान आकर्षित होता है। Audio हवा में ध्वनि के दबाव से उत्‍पन्‍न होने वाला पैटन होता है। यह ध्‍वनि माईक्रोफोन के द्वारा होते हुए विघुत तरगों में बदलकर स्‍पीकर द्वारा सुना जाता है। जैसे कि बिजली के द्वारा बल्‍ब से प्रकार उत्‍पन्‍न होता है।
कम्‍पयूटर Audio को दो भागों में बाटा गया है।

Types of Audio Image

Analog Audio

Analog Audio में तरगों का प्रयोग होता है। Analog Audio में रिकार्ड की गई ध्‍वनि को सुन्‍ने तथा Produce करने हेतु इलेक्‍ट्रिकल वोलटेज का प्रयोग किया जाता है।

Analog Sound Wave Image

Digital Audio

Digital Sound Wave Image

Digital Audio बाइनरी कोड 0-1 के रूप में होती है। जिसे सिर्फ कम्‍प्‍यूटर के द्वारा ही समझा जा सकता है। Digital Audio में साउड को रिकार्ड कर Digital Audio में बदला जा सकता है, तथा Audio में मौजूद गलतियों को बदला व ठीक किया जा सकता है, और इसे स्‍पीकर की सहायता से सुना भी जा सकता है।

Animation

मल्‍टीमीडिया में Animation का उपयोग कॉफी प्रभावी है। लैटिन भाषा Animation से आश्‍य आत्‍मा से होता है। Animation का मतलब भी किसी Image को सजीव रूप देना है अर्थात उसमें जान डालना है। Animation की सहायता से हम किसी Image को चला सकते है जैसे की वह चल रहा हो या दौड रहा हो। पहल पहल यह कार्य कागजों पर होता था जिसमें कागजों के कई सीट्स में एक ही Image के तरह तरह के कार्य करते हुए ड्राईग तैयार कि जाती थी, फिर उसे किताब के पन्‍नो की तरह तेजी से बदला जाता था जिससे हमारी ऑंखों को यह लगता था कि हमें दिखाए जाने वाला Image Animate हो रहा हो, लेकिन आज यही कार्य आसानी से कम्‍प्‍यूटरों पर किए जाते है। मल्‍टीमीडिया Animation दो प्रकार के होते है पहला है 2D Animation और दूसरा है 3D Animation उदाहरण के लिए TV Par दिखाए जाने वाले Cartoon इसका अच्‍छा उदाहरण है।

Multimedia Animation Image
Multimedia Animation Image
Animation of Image GIF
Animation

Video

Video तेज गति से चलने वाली फ्रेमों की श्रृखला सग्रंह है जो कि तेज गति में चल रहे वीडियों का भ्रम पैदा करती है। यह बिलकुल Animation की तरह होता है। दूसरे शब्‍दों में कहे तो हम कह सकते है कि वीडियों का आश्‍य स्थिर चित्रों के एक समूह को इलेक्‍ट्रॉनिक रूप रिकार्ड और स्‍टोर कर के प्रदर्शित किया जाता है। Video में 25 से 30 फ्रेम प्रति सेकेण्‍ड की दर से Image को दिखाया जाता है। जो कि हमें वीडियों के रूप में प्रदर्शित होती है। आजकल यह दर 30 से 120 प्रति सेकेण्‍ड तक हो गयी है।
Audio की तरह Video भी दो प्रकार के होते है

Types of Video Image

Analog Video

Analog Audio की तरह Analog Video भी तरंगों से मिल कर बना होता है, जो कि एक एलेक्‍ट्रॉनिक सिग्‍नल होता है इन Waves के द्वारा ही डेटा Flow होता रहता है। जैसा की Analog Audio में हाेता है। Analog Video को पारंपरिक वीडियों के रूप में भी जाना जाता है। जो केवल TV या VCR के माध्‍यम से ही देखा जा सकता है।

Digital Video

Digital Video एक प्रकार Video Recording System है। जो कि Digital Video Signal का प्रयोग करके कार्य करती है। जैसा की Digital Audio में हाेता है। Digital Video बाइनी 0-1 अंकों से मिल कर बना होता है। तथा यह रिकार्ड भी इसी रूप में किया जाता है और देखा भी इसी रूप में जाता है।

NOTE:- आपको ये पोस्ट कैसी लगी आप हमें कमेंट के माध्यम से अवश्य बतायें। हमें आपके कमेंट्स का बेसब्री से इन्तजार रहेगा है। अगर आपका कोई सवाल या कोई suggestions है तो हमें बतायें, और हाँ पोस्ट शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.